Indiaherald Group of Publishers P LIMITED

X
close save
crop image
x
Thu, Oct 17, 2019 | Last Updated 5:39 am IST

Menu &Sections

Search

17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने के फैसले पर रोक

17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने के फैसले पर रोक
17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने के फैसले पर रोक
http://apherald-nkywabj.stackpathdns.com/images/appleiconAPH72x72.png apherald.com
इलाहाबाद हाई कोर्ट से उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को बड़ा झटका लगा है। हाई कोर्ट ने ओबीसी की 17 जातियों को एससी में शामिल करने के फैसले पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने प्रमुख सचिव समाज कल्याण मनोज कुमार सिंह से व्यक्तिगत हलफनामा मांगा है।



जस्टिस सुधीर अग्रवाल और जस्टिस राजीव मिश्र की डिवीजन बेंच ने मामले की सुनवाई करते हुए ये आदेश दिया है। कोर्ट ने सरकार के फैसले को गलत माना है। कोर्ट ने कहा कि इस तरह के फैसले लेने का अधिकार सरकार को नहीं था।



बदलाव करने का अधिकार संसद को
हाई कोर्ट ने योगी सरकार से कहा कि प्रदेश सरकार को इस तरह का फैसला लेने का अधिकार नहीं है। सिर्फ संसद ही एसटी/एससी जातियों में बदलाव करने का अधिकार है।


17 OBC जातियों को मिला था SC का दर्जा
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने 24 जून को शासनादेश जारी किया था। योगी सरकार ने 17 पिछड़ी जातियों (OBC) को अनुसूचित जातियों (SC) की सूची में शामिल कर दिया है। इन जातियों को अनुसूचित जातियों की लिस्ट में शामिल करने के पीछे योगी सरकार ने कहा था कि ये जातियां सामाजिक और आर्थिक रूप से ज्यादा पिछड़ी हुई हैं।



योगी सरकार ने इन 17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति का प्रमाणपत्र देने का फैसला किया था। इसके लिए जिला अधिकारियों को इन 17 जातियों के परिवारों को जाति प्रमाण पत्र जारी करने का आदेश दिया गया था।



कौन-कौन हैं जातियां
ये पिछड़ी जातियां निषाद, बिंद, मल्लाह, केवट, कश्यप, भर, धीवर, बाथम, मछुआरा, प्रजापति, राजभर, कहार, कुम्हार, धीमर, मांझी, तुरहा, गौड़ इत्यादि हैं। इन पिछड़ी जातियों को अब एससी कैटेगरी की लिस्ट में डाला गया था। सरकार ने जिला अधिकारी को इन 17 जातियों के परिवारों को जाति प्रमाण पत्र जारी करने का आदेश दिया था, जिस पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है।
Prohibition on decision to include 17 backward castes in scheduled castes
5/ 5 - (1 votes)
Add To Favourite
More from author
इसलिए गणित के लिए नहीं दिया जाता नोबेल पुरस्कार
तो क्या आपको भी ब्रेकअप के फौरन बाद फिर से हो गया है प्यार ?
95km की माइलेज देगा Bajaj Chetak इलेक्ट्रिक स्कूटर, भारत में हुआ लांच
सरेआम नेहा कक्कड़ को कंटेस्टेंट ने किया जबरदस्ती Kiss
दिवाली-छठ से पहले सरकारी कर्मचारियों को नीतीश सरकार देगी बड़ा तोहफा
पढ़ें, अयोध्या विवाद पर आखिरी सुनवाई के अंतिम दिन की कहानी
SBI ने करोड़ों ग्राहकों को दिया बड़ा झटका
इस दिन से बदल जाएगा टोल टैक्‍स के नियम, बेहद जरूरी होगा ये टैग
केंद्र ने जारी किया निर्देश, अब स्कूलों में उगानी पड़ेंगी सब्जियां
इवेंट के बीच जब आलिया भट्ट ने दी गाली तो करीना ने ये कहा
तो क्या मान्यवर के एड से बाहर हुए विराट-अनुष्का ?
RTI का खुलासा, रोकी गई 2,000 रुपये के नोटों की छपाई
ये क्या! युवक के पेट में हुई दर्द की शिकायत तो डॉक्टर ने लिखा प्रेग्नेंसी टेस्ट
कुएं में तेज आवाज के साथ हो रहा कंपन, दहशत की वजह से खाली हुआ पूरा गांव
जिसके साथ की छिनैती वो निकली पीएम नरेंद्र मोदी की बहन जानने के बाद उड़े होश
तो एक बार फिर बनेगी सलमान के साथ दिशा की जोड़ी
डॉक्टर बना हैवान, मरीज से किया बलात्कार फिर दोस्तों को भेजा रेप वीडियो
रेलवे ने इन रूटों पर शुरू कीं 10 नई ट्रेनें
इस बुरी लत की शिकार श्रुति, ब्रेकअप के बाद बदली सोच
ये क्या! शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए पुलिस ने हनुमान जी को ही हिरासत में ले लिया
तो क्या बिग बॉस हो सकता है बैन, केंद्रीय मंत्री ने उठाया ये कदम
About the author

Bharath has been the knowledge focal point for the world, As Darvin evolution formula End is the Start ... Bharath again will be the Knowledge Focal Point to the whole world. Want to hold the lamp and shine light on the path of greatness for our country Bharath.