Indiaherald Group of Publishers P LIMITED

X
close save
crop image
x
Sat, Oct 19, 2019 | Last Updated 10:56 pm IST

Menu &Sections

Search

सप्तमी के दिन होती है माँ कालरात्रि की पूजा, दुष्टों का दमन और भक्तों को वरदान देनेवाली माता की ऐसे करें प्रसन्न!

सप्तमी के दिन होती है माँ कालरात्रि की पूजा, दुष्टों का दमन और भक्तों को वरदान देनेवाली माता की ऐसे करें प्रसन्न!
सप्तमी के दिन होती है माँ कालरात्रि की पूजा, दुष्टों का दमन और भक्तों को वरदान देनेवाली माता की ऐसे करें प्रसन्न!
http://apherald-nkywabj.stackpathdns.com/images/appleiconAPH72x72.png apherald.com
अश्विन शुक्लपक्ष की सप्तमी अर्थात नवरात्रि के सातवें दिन मां दुर्गा के सातवें स्‍वरूप ‘कालरात्र‍ि’ की पूजा की परंपरा है। देवी पुराण में उल्लेखित है कि माता गौरी की शक्ति का यह स्वरूप शत्रुओं का सर्वनाश करने वाला होता है। भगवान विष्णु के कान से उत्पन्न मधु कैटभ का मर्दन करने वाली शक्ति मां कालरात्रि ही हैं। दुर्गा सप्तशती में वर्णित है कि शारदीय नवरात्रि की सप्तमी के दिन माँ कालरात्रि की पूरी निष्ठा एवं विधि-विधान से पूजा करने पर मां प्रसन्न होकर अपने भक्तों की हर मनोकामनाएं पूरी करती हैं। मान्यता है कि कालरात्रि की पूजा करने वाले भक्तों को भूत, प्रेत अथवा किसी भी तरह की बुरी शक्तियां परेशान नहीं कर सकती।

मां कालरात्र‍ि का अलौकिक स्‍वरूप
सप्तशती और देवी पुराण में मां कालरात्रि का स्वरूप अत्यंत भयाक्रांत करने वाला दर्शाया गया है। वास्तव में उनका यह स्वरूप दुष्ट, नराधम एवं पापियों का सर्वनाश करने वाला है। जबकि अपने भक्तों के लिए वह एक ममतामयी माँ समान ही हैं। भक्तों को भी माँ कालरात्रि का काला रंग कांतिमय, दिव्य एवं अलौकिक महसूस होता है। इनके तीन नेत्र ब्रह्मांड की तरह विशाल हैं, जिनसे विद्युत किरणें निकलती-सी प्रतीत होती हैं। मां कालरात्रि के खुले-बिखरे हवा में लहरा रहे हैं। गले में विद्युत-सी चमकती माला है। मां की नाक से आग की भयंकर ज्वालाएं निकलती रहती हैं। इनकी चार भुजाएं हैं। दाईं ओर की ऊपरी भुजा से भक्तों को वरदान दे रही हैं और नीचे की भुजा से अभय का आशीर्वाद प्रदान कर रही हैं। बाईं भुजा में मां ने तलवार और खड्ग धारण की हुई है। शास्त्रों के अनुसार देवी कालरात्रि गधे पर विराजमान हैं। हालांकि उनका विचित्र रूप भक्तों के लिए अत्यंत शुभ है, इसीलिए इन्हें शुभंकरी भी कहा जाता है।

देवी कालरात्रि के कवच
ऊँ क्लीं मे हृदयं पातु पादौ श्रीकालरात्रि।
ललाटे सततं पातु तुष्टग्रह निवारिणी॥

पूजा का शुभ मुहू्र्त (5 अक्टूबर 2019)
अमृत काल मुहूर्त-
सुबह 6 बजकर 20 मिनट से 8 बजकर 20 मिनट तक (5 अक्टूबर 2019)

अभिजीत मुहूर्त-
सुबह 11 बजकर 46 मिनट से दोपहर 12 बजकर 33 मिनट तक (5 अक्टूबर 2019)

माता कालरात्रि की पूजा-विधि
मां कालरात्रि की पूजा ब्रह्ममुहूर्त में ही की जाती है, जबकि तांत्रिक मां की पूजा आधी रात में करते हैं। इसीलिए मां कालरात्रि की पूजा के लिए सूर्योदय से पूर्व उठकर स्नान-ध्यान करने के पश्चात मां का ध्यान और व्रत का संकल्प लेते हुए पूरे दिन व्रत रहना चाहिए। इसके पश्चात एक चौकी पर लाल रंग का वस्त्र बिछाकर इस पर मां कालरात्रि का चित्र अथवा प्रतिमा स्थापित करें। अब मां कालरात्रि को कुमकुम, लाल पुष्प, रोली आदि अर्पित करें। माला के रूप में मां को नींबुओं की माला पहनाएं और उनके समक्ष तेल का दीपक प्रज्जवलित करें। मां को गुड़ बहुत पसंद है, अतः उन्हें गुड़ का भोग ही लगाएं। इसके बाद मां के मंत्रों का जाप करें या सप्तशती का पाठ करें। पूजन विधि पूरी होने के बाद मां की कथा सुनें और धूप-दीप से मां की आरती उतारें। देवी को भोग लगाएं और मां से पूजा पाठ में जाने-अनजाने में हुई गल्तियों के लिए छमा मांगें। अब माँ के सामने चढ़े हुए आधे गुड़ का प्रसाद परिवार में वितरित करें। बाकी आधा गुड़ किसी ब्राह्मण को दान कर दें।

ध्यान रहे कि पूजा करते वक्त काले रंग का वस्त्र न पहनें और ना ही किसी को नुकसान पहुंचाने के ध्येय से माँ कालरात्रि का पूजा करें।


On the day of Saptami, the worship of Maa Kalratri, suppression of the wicked and blessing the mother who gives blessings to the devotees, is happy!
5/ 5 - (1 votes)
Add To Favourite
More from author
'घर की बहु' को लेकर अमिताभ ने किया ट्वीट, जमकर हो रही तारीफ
HC की तेलंगाना सरकार को फटकार, 3 दिन के भीतर हल निकालने का आदेश
'तुम ही आना' और 'एक तो कम जिंदगानी' जैसे हिट सॉन्ग के बाद 'थोड़ी जगह' सॉन्ग रिलीज
महानायक अमिताभ बच्चन अस्पताल से हुए डिस्चार्ज, पिछले 4 दिनों से थे भर्ती
CRPF जवानों को जल्द मिल सकता है बड़ा दिवाली गिफ्ट, गृह मंत्री ने उठाया ये अहम कदम
क्या कभी आपने सुना ऐसा जुर्माना जिसमें अगर शराब पी तो पूरे गाँव को खिलाना पड़ेगा मटन
इंडियन आइइडल ऑडिशन में इस कंटेस्टेंट ने किया नेहा कक्कड़ को जबरन किस
10 कॉस्मेटिक्स आपके पैसे बचा सकते हैं...
नुसरत जहां से लेकर प्रियंका चोपड़ा तक, बॉलीवुड स्टार्स ने कुछ यूं मनाया Karva Chauth
अस्पताल में भर्ती हुए सदी के महानायक अमिताभ बच्चन
चुनाव प्रचार का अंतिम दिन आज, कांग्रेस और भाजपा झोंकेगे पूरी ताकत
मुंबई में चोरी हुआ 73 करोड़ रुपये का पानी, जानिए पूरा मामला
त्‍योहारों पर पैरों में लगाती हों आलता तो देख लें लेटेस्‍ट डिजाइन
संजय लीला भंसाली ने आलिया भट्ट के साथ लॉक की अगली फिल्म
आम्रपाली दुबे, मोनालिसा, रानी चटर्जी पर फिल्माए गए करवा चौथ के फिल्मी गीत और गाने, देखें वीडियो
TSRTC के GM पद पर नियुक्त होंगे IPS अधिकारी : केसीआर
वाहनों के नंबर प्लेट पर चमकीला टेप लगाना होगा जरूरी, वरना...
आईएमएफ ने दिया मोदी सरकार को झटका, आर्थिक वृद्धि दर 2019 में घटकर 6.1 प्रतिशत रहने का अनुमान
खूब चढ़ेगा का रंग जब करवाचौथ पर सजना के नाम की मेहंदी में मिलाएंगी ये चीज़ें
करवाचौथ पर भूलकर भी ना पहने यह रंग वरना...
सिद्धार्थ शुक्ला ने इस कंटेस्टेंट को कहा कमीनी, हो रहे हैं ट्रोल
दीवाली से पहले पीएफ खाताधारकों के लिए बड़ी खुशखबरी...
बॉलीवुड की 'ड्रीम गर्ल' हेमा मालिनी की जिंदगी से जुड़े ये अनसुने किस्से जिसे जानकर रह जाएंगा दंग
जब हमारे देश की ताकत बढ़ती है, तो कांग्रेस परेशान हो जाती है : पीएम मोदी
ये रिश्ता क्या कहलाता है फेम मोहिना कुमारी सिंह ने लिए सात फेरे
इनकी हिम्मत के आगे हारी लाचारी, बनीं देश की पहली नेत्रहीन IAS अफसर
TSRTC Strike : कर्मचारी यूनियनों का सरकार की नीति से कोई संबंध नहीं - केशव राव
आलिया भट्ट को अपनी भाभी बनाने पर करीना ने कहा- 'मैं दुनिया की...'
FATF में अलग-थलग पड़ा PAK, 'डार्क ग्रे' सूची डाला जा सकता है उसका नाम
About the author

Bharath has been the knowledge focal point for the world, As Darvin evolution formula End is the Start ... Bharath again will be the Knowledge Focal Point to the whole world. Want to hold the lamp and shine light on the path of greatness for our country Bharath.