Indiaherald Group of Publishers P LIMITED

X
close save
crop image
x
Sun, Aug 25, 2019 | Last Updated 1:29 am IST

Menu &Sections

Search

मोबाइल गेम का टास्क पूरा करने के लिए घर से भागी 10वीं की छात्रा

मोबाइल गेम का टास्क पूरा करने के लिए घर से भागी 10वीं की छात्रा
मोबाइल गेम का टास्क पूरा करने के लिए घर से भागी 10वीं की छात्रा
http://apherald-nkywabj.stackpathdns.com/images/appleiconAPH72x72.png apherald.com

उत्तराखंड के स्कूल की छात्रा को 'टैक्सी ड्राइवर 2' मोबाइल गेम की ऐसी लत लगी कि वह घर से भाग गई और 20 दिनों तक 9 शहर घूम आई। लड़की उत्तराखंड के पंत नगर की रहने वाली है। उसकी यह यात्रा तब समाप्त हुई जब पुलिस ने दिल्ली में बुधवार देर रात छात्रा को रोका और पूछताछ की। उसने बताया कि वह घर से बिना बताए निकली है। इसके बाद पंत नगर पुलिस से संपर्क किया गया और पूरे मामले की जानकारी दी।


लड़की ने पुलिस को बताया कि वह ऐम्स में अपने एक भाई से मिलने आई थी लेकिन बाद में उसने सच्चाई जाहिर की। पुलिस को उसके पास से एक कागज मिला, जिसमें कई फोन नंबर लिखे थे। पुलिस ने उन नंबरों से पता लगाया कि वह पिछले 17 दिनों से घर से गायब थी। पुलिस ने लड़की के परिवारवालों से संपर्क किया। इसके बाद लड़की के माता-पिता उसे लेने दिल्ली आए। 


पुलिस के मुताबिक- लड़की को दक्षिण कोरियाई थ्रीडी मोबाइल ड्राइविंग गेम 'टैक्सी ड्राइवर 2' की लत लग गई थी। वह अपनी मां के फोन में इस गेम को खेलती थी। गेम में खिलाड़ी एक टैक्सी के पहियों के पीछे निकलते हैं और अपने ग्राहकों के साथ एक बड़े महानगर तक दौड़ लगाते हैं। लड़की भी इसे फॉलो करने लगी।



अंतर्मुखी स्वभाव की थी लड़की 

वह एक जुलाई को 14 हजार रूपए लेकर पंत नगर स्थित अपने घर से निकली और ऋषिकेश, हरिद्वार, बरेली, लखनऊ, उदयपुर, जयपुर, अहमदाबाद, दिल्ली और पुणे की यात्रा कर आई। पुलिस ने कहा कि वह अचानक ही किसी नए शहर पहुंचती थी। वह रात में सफर करती थी और दिन में घूमती थी। उसके दोस्त ने बताया कि वह अंतर्मुखी स्वभाव की है और ज्यादातर समय मोबाइल गेम खेलने में लगाती है।



विशेषज्ञ बोले- ऐसे बच्चों पर ध्यान दें जो ज्यादा घुलते-मिलते नहीं हैं इंस्टीट्यूट ऑफ ह्यूमन बिहेवियर एंड अलाइड साइंसेज के निदेशक डॉ. निमेश देसाई ने कहा, ‘‘माता-पिता को चाहिए कि वह ऐसे बच्चों पर ध्यान दें जो लोगों या परिवार वालों से ज्यादा घुलते-मिलते नहीं हैं। ऐसे बच्चों को अपनी ही दुनिया की तुलना में वास्तविक दुनिया में मिलने-जुलने का अधिक मौका दिया जाना चाहिए।’’


Uttarakhand schoolgirl runs away from home travels 7 cities in 20 days
5/ 5 - (1 votes)
Add To Favourite
More from author
सैंडल में फंसा गाउन, गिरते-गिरते बचीं प्रेग्नेंट बॉलीवुड एक्ट्रेस
जैकी भगनानी और भूमि के रिलेशनशिप की जानें सच्चाई
पी. चिदम्बरम ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की नयी अर्जी
पतंजलि के सीईओ बालकृष्ण एम्स में भर्ती
इस चीज़ से पीड़ित हैं सोनम कपूर, इंस्टाग्राम पर दी जानकारी
6 महीने में ही राजनीति से क्यों किया तौबा बिग बॉस फेम अर्शी खान ने बताया
वित्त मंत्री का ऐलान, होम और कार लोन की EMI होगी कम
BJP ने CM जगनमोहन रेड्डी पर लगाया ईसाईकरण का आरोप
ट्विटर पर #BoycottMcDonalds कर रहा हैं ट्रेंड
चीन के बाद अब यहां रिलीज़ होगी 'अंधाधुन'
इस मामले में पहली तेलुगु फिल्म बनी साहो
आयुष्मान खुराना को मिला 'एक्टर ऑफ द इयर' का अवॉर्ड
रानू मंडल को मिला इस फिल्म में गाना गाने का मौका
प्रियंका के हाथ लगा नया प्रोजेक्ट
मिड डे मील में बच्चों को परोसा गया रोटी और नमक
चंद्रयान-2 ने चांद की पहली तस्वीर भेजी, क्या आपने देखी ?
26 अगस्त तक सीबीआई की रिमांड पर भेजे गए चिदंबरम
About the author

Bharath has been the knowledge focal point for the world, As Darvin evolution formula End is the Start ... Bharath again will be the Knowledge Focal Point to the whole world. Want to hold the lamp and shine light on the path of greatness for our country Bharath.